प्लॉटर क्या हैं और उसके प्रकार

प्लॉटर क्या हैं? ( plotter meaning in hindi)

प्लॉटर एक Output device है। plotter के द्वारा Drawing, Chart, Graph आदि को प्रिंट किया जाता हैं। ये 3D photo Printing भी करते हैं ये पोस्टर को print करता हैं।
जिसका प्रयोग बड़ी ड्राइंग या चित्र जैसे कि कंस्ट्रक्शन प्लान्स ( Construction Plans ) , मैकेनिकल वस्तुओं की ब्लूप्रिंट , AUTOCAD , CAD / CAM आदि के लिए करते हैं । इसमें ड्रॉइंग बनाने के लिए पेन , पेन्सिल , मार्कर आदि राइटिंग टूल का प्रयोग होता है । यह Printers की तरह होता है । इसमें एक समतल चौकोर सतह पर कागज लगाया जाता है । इस सतह से कुछ ऊपर एक ऐसी छड़ होती है , जो कागज के एक सिरे से दूसरे सिरे तक चल सकती है । इस छड़ पर अलग - अलग रंगों के दो या तीन पेन लगे होते हैं , जो छड़ पर आगे - पिछे सरक सकते हैं । इस प्रकार छड़ और पेनों की सम्मिलित हलचल से समतल सतह के किसी भी भाग में कागज पर चिह्न या चित्र बनाया जा सकता है । इसके द्वारा छपाई अच्छी होती है , परन्तु ये बहुत धीमे होते हैं तथा मूल्य भी अपेक्षाकृत अधिक होता है । प्रिंट करने में  वैसे तो इस कार्य के लिए सामान्य प्रिन्ट्स को भी इस्तेमाल किया जा सकता है, लेकिन इनकी सहायता से सभी चित्रों को उच्च कोटि की शुद्धता से प्राप्त किया जाता है।
Output device plotter


प्लॉटर दो प्रकार ( types of plotter)

(i) ड्रम प्लॉटर (Drum Plotter) 
(ii) फ्लैट बैड (Flat Bad)

( 1 ) ड्रम प्लॉटर ( Drum Plotter ) -

 इसमें आगे पीछे घूमने वाला एक ड्रम होता है । जिस पर कागज लगा दिया जाता है और एक इलेक्ट्रॉनिक हाथ ( Electronic Hand ) की सहायता से उस पर डिजाइन बनाई जाती है । इसकी सहायता से काफी बड़े आकार के चित्र प्राप्त किये जा सकते है ।
Output device plotter

( ii ) फ्लैट बैड ( Flat Bad ) -

इन plotters पर कागज एक समतल सतह पर लगा रहता है । तथा प्लॉटर चित्र बनाने के लिए सरकता रहता है । इससे छोटे आकार के चित्र प्राप्त किये जा सकते है ।
Output device printer

Note:- लेजर प्रिंटरों के आ जाने के बाद इनका प्रयोग लगभग समाप्त हो गया है।


Share this

Related Posts

Previous
Next Post »

Pages